Featured India

PM मोदी की पार्टी बीजेपी क्यों खोजना चाहती है मुगल बादशाह औरंगजेब के भाई की कब्र !

PM मोदी की पार्टी बीजेपी क्यों खोजना चाहती है मुगल बादशाह औरंगजेब के भाई की कब्र ! February 20, 2020Leave a comment

मोदी सरकार मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब के बड़े भाई दारा शिकोह की कब्र की तलाश में जुटी हुई है। दिल्ली में इस्थित हुमायूँ के मकबरे के पास मुग़ल शासको की पहली कब्रगाह है। इस कब्रगाह में 40 कब्रे हैं लेकिन इनमें से दारा शिकोह की कब्र कौन सी है ये मालूम करना आसान काम नहीं है।
दारा शिकोह ने गीता का फारसी में अनुवाद किया था। मोदी सरकार दारा शिकोह की कब्र खोज कर उनको सच्चा मुसलमान साबित करना चाहती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मुग़ल शासक हुमायूँ के सबसे बड़े बेटे दारा शिकोह भारतीय संस्कृति के बहुत ज्यादा प्रभावित थे। सरकार ने कब्र को खोजने के लिए 7 सदसीय कमेटी का गठन किया है।


इस कमेटी को 3 महीने का वक़्त दिया गया है जिसमें उसको दारा शिकोह की कब्र खोज कर केंद्र सरकार को इस बारे में सूचित करना है। कमेटी के लिए ये काम आसान नहीं है क्योंकि हुमायूँ के मकबरे में बहुत सारी ऐसी कब्रे मौजूद हैं जिन पर कोई नाम नहीं लिखा हुआ है।
शाहजहांनमा में लिखा है कि बादशाह औरंगज़ेब से हारने के बाद दारा शिकोह का सर कलम कर दिया गया था। उनके सर को आगरा किले भेजा गया था और उनके शरीर के बाकी अंग को हुमायूँ के मकबरे के पास कहीं दफनाया गया था।


मुग़ल शासक शाहजहां अपनी सभी औलादो में दारा शिकोह को सबसे ज़्यादा पसंद करते थे। वे शाहजहां और मुमताज महल के सबसे बड़े बेटे थे। दारा पंजाब प्रान्त के सूबेदार भी रहे थे। दारा के बारे में कहा जाता है कि वे सभी धर्मो का सम्मान करते थे। उनके ऊपर इस्लाम के प्रति अनास्था फैलाने का आरोप भी लगा था।