Featured Hindi India

कुछ ऐसी थी सोनिया और राजीव गांधी की लव स्टोरी, अमिताभ के घर रुकना पड़ा था 45 दिन

कुछ ऐसी थी सोनिया और राजीव गांधी की लव स्टोरी, अमिताभ के घर रुकना पड़ा था 45 दिन May 20, 2020Leave a comment

आज हम बात करने जा रहे हैं सोनिया गांधी और राजीव गांधी की प्रेम कहानी के बारे में. एक छोटे से गांव से निकलकर भारत में सबसे बड़े राजनीतिक घराने की बहु सोनिया गांधी की कहानी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है. सोनिया गांधी का असली नाम एंटोनियो मैंनो था. आपकी जानकारी के लिए बता दें सोनिया गांधी का जन्म 9 दिसंबर 1946 को इटली के एक लुसियाना गांव में हुआ था.

रेस्टोरेंट में काम करती थी सोनिया

सोनिया गांधी और राजीव गांधी पहली बार वर्ष 1965 में कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के रेस्टोरेंट मैं मिले थे. एंटोनियो के अनुसार एक दिन जब राजीव गांधी अपने किसी दोस्त एलेक्सिस के इंतजार में रेस्टोरेंट की टेबल पर बैठे हुए थे. मैंने राजीव गांधी से ‘पूछा कि तुम्हें किसी दूसरे और एक लड़की के साथ बैठने में किसी प्रकार का संकोच तो नहीं है. इसी तरह से पहली बार राजीव गांधी और सोनिया गांधी की मुलाकात हुई थी. हम आपको बता दें कि इसी पहली मुलाकात में ही इन दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया था.


सोनिया गांधी कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने के साथ ही रेस्टोरेंट में पार्ट टाइम काम भी करती थीं. सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद उन्होंने अपने परिवार वालों को एक खत के जरिए बताया. परंतु उनके घरवाले शादी से साफ इनकार कर दिया. इसका कारण यह था कि राजीव गांधी जहां भारत के प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बेटे थे वहीं सोनिया गांधी साधारण परिवार से थीं. परंतु इन दोनों के प्रेम के आगे सभी को झुकना पड़ा.

भारत में पहली बार सोनिया गांधी 1968 में आई थी उस वक्त इंदिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री थीं और अपने विरोधियों को कहने का मौका ना मिले. इस वजह से सोनिया गांधी के रहने का इंतजाम 45 दिनों के लिए अभिनेता अमिताभ बच्चन के घर पर किया गया था और शादी भी वहीं से हुई थी.