Cricket Featured Hindi

क्रिकेट जगत के 5 बाप-बेटों की जोड़ियां, केवल 1 बेटा निकला पिता से आगे

क्रिकेट जगत के 5 बाप-बेटों की जोड़ियां, केवल 1 बेटा निकला पिता से आगे March 6, 2020Leave a comment

क्रिकेट की दुनिया में कई बाप बेटों की जोड़ी देखने को मिली है। लेकिन इनमें से केवल एक ही कामयाब हो पाया है। आज हम क्रिकेट की पांच बाप बेटो की जोड़ी के बारे में बात करना चाह रहे हैं।


1. सुनील गावस्कर और रोहन गावस्कर
सुनील गावस्कर की गिनती भारत के महान बल्लेबाजों में की जाती है। सुनील गावस्कर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कई अनोखे रिकॉर्ड बनाए थे। उनके बेटे रोहन गावस्कर को भी भारतीय टीम की तरफ से खेलने का मौका मिला था। लेकिन रोहन क्रिकेट में अपने पिता की तरह कामयाब नहीं हो सके।

2. विवियन रिचर्ड्स और मौली रिचर्ड्स
विवियन रिचर्ड्स वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। इन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर के दौरान कई शानदार रिकॉर्ड बनाए थे। इनके बेटे मौली ने मात्र 15 साल की उम्र में एंटीगुआ की तरफ से शतक लगाकर सुर्खियां बटोरी थी। लेकिन आज तक इन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने का अवसर नहीं मिला।

3. कृष्णमाचारी श्रीकांत और अनिरुद्ध श्रीकांत
कृष्णमाचारी श्रीकांत का क्रिकेट करियर बेहद सफल रहा है।इन्होंने अपने कैरियर के दौरान 43 टेस्ट और 146 वनडे मुकाबले खेले हैं। लेकिन उनके बेटे को केवल गिने-चुने मैच खेलने का मौका मिला। अनिरुद्ध क्रिकेट में अपने पिता की तरह नाम नहीं कमा पाए।

4. डेनिस लिली और एडम लिली
डेनिस लिली ऑस्ट्रेलिया की टीम के दिग्गज तेज गेंदबाज रहे हैं। इनकी तेज गेंदबाजी के आगे बड़े बड़े बल्लेबाज घुटने टेक देते थे। इनके बेटे एडम लिली भी अपने पिता की तरह तेज गेंदबाज बनना चाहते थे। लेकिन उनके अंदर अपने पिता की तरह हुनर नहीं था। इसीलिए डेनिस लिली के बेटे एडम लिली को एक भी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

5. युवराज सिंह और योगराज सिंह
भारत के खतरनाक ऑलराउंडर युवराज सिंह से सभी परिचित हैं। युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुके हैं। लेकिन योगराज सिंह क्रिकेट में उतना कामयाब नहीं हो पाए जितना युवराज सिंह को कामयाबी मिली। युवराज सिंह एकमात्र ऐसे बेटे हैं जो अपने पिता से ज्यादा नाम कमाने में कामयाब रहे।