Featured Hindi India News OMG! India

भारत के 5 सबसे ताकतवर और खतरनाक ‘कमांडो फोर्स,’ जिनके नाम से डरती है पूरी दुनिया!

किसी भी देश को कड़ी चुनौती दे सकती है भारत की ये 5 खतरनाक 'कमांडो फोर्स'!

भारत के 5 सबसे ताकतवर और खतरनाक ‘कमांडो फोर्स,’ जिनके नाम से डरती है पूरी दुनिया! June 6, 2020Leave a comment

किसी भी देश को ताकतवर बनाने के पिछे उसकी सभी फोर्सेज यानी की जल स्थल और वायुसेना का हाथ होता है । जिसके दम पर कोई भी देश दुनिया के सामने एक नई शक्ति के रूप में उभर कर आ सकता है । भारत में देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी आर्मी, नेवी, वायुसेना और पुलिस के हाथों में है और आज इन्हीं फोर्सेज की वजह से हम घरों में बैठे बैठे चैन की सांस ले सकते हैं । मगर भारत के पास इन सभी फोर्सेज से भी बढ़ के कुछ एसी भी फोर्सेज हैं जो सबके नजर में आए बिना दुश्मनों और आतंकवादियों का खात्मा करने में सक्षम हैं और आपको यह बात जानकर आश्चर्य होगा कि भारत की ऐसी स्पेशल फोर्सेज को एलर्ट रहने के लिए और दुश्मन के अचानक हमले से संभलने के लिए सिर्फ १५ से २० मिनट का समय होता है । आज हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले हैं पांच भारत की ऐसी खुफिया स्पेशल फोर्सेज के बारे में जिन्हें जानकर आपका सीना भी गर्व से चौड़ा हो जाएगा ।
१ – गरुड़ कमांडो फोर्स

भारतीय वायुसेना ने 2004 में अपनी वायुसीमा की सुरक्षा के लिए आसमानी रक्षक गरूड़ फोर्स की स्थापना की थी। गरुड़ फोर्स हवा युद्ध में काफी माहिर होते हैं । अपने हुनर से इनको पता होता है कि कैसे दुश्मन की सीमाओं में घुसकर अपने साथियों को कैसे सुरक्षित वापस लाना है ।आर्मी से अलग ये कमांडो काले टोपी पहनते हैं और गरुड़ फोर्स सिर्फ वायुसेना के जवानों को ही कमांडो बनने का मौका देता है । पुरी तरह से गरुड़ फोर्स में सामिल होने में लगभग कमांडो को तीन साल का समय लग जाता है । ट्रेनिंग के दौरान इन्हें नदियों और आग से गुजरना, बिना सहारे पहाड़ पर चढ़ना, भारी बोझ के साथ कई किलोमीटर की दौड़ लगाना और घने जंगलों में रात गुजारना इनकी ट्रेनिंग का खास हिस्सा होता है । इतनी कठिन ट्रेनिंग के बदोलत यह फोर्स हर तरह के प्रहार से देश की सुरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहते हैं ।
२ – मार्कोस कमांडो फोर्स

मार्कोस भारत के सबसे ख़तरनाक स्पेशल फोर्सेज में से एक है । मार्कोस भारत के सबसे ट्रेंड और सबसे आधुनिक माने जाता है जिसे 1997 में स्थापित किया गया था। मार्कोस कमांडो बनना आसान नहीं होता क्योंकि मार्कोस कमांडो की ट्रेनिंग दुनिया में सबसे मुश्किल ट्रेनिंग में से एक है । इस ट्रेनिंग में कमांडो को मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार किया जाता है । ये फोर्स जमीन समुद्र और हवा में लड़ने के लिए पूरी तरह से सक्षम होते हैं । आज तक मार्कोस ने कारगिल युद्ध, ओप्रेशन लिच, ओप्रेशन स्वान जैसे खतरनाक मिशनों को अंजाम दिया है ।
३ – कोबरा कमांडो फोर्स

कोबरा कमांडो भारत के सबसे बेहतरीन और ताकतवर फोर्सेज में से एक है । कोबरा फोर्स केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी कि सीआरपीएफ की ही स्पेशल फोर्स है । इन्हें भेस बदलकर दुश्मन पर हमला करने की खास ट्रेनिंग दी जाती है । कोबरा फोर्स दुनिया की बेस्ट पैरा मिलिट्री फोर्स में से एक है । इसके लिए इन्हें खास गोरिल्ला ट्रेनिंग दी जाती है । गोरिल्ला ट्रेनिंग में कोबरा कमांडो को हाथ लगाकर मारने में एक्सपर्ट बना दिया जाता है । इन्हें जंगलों में और बिहड़ इलाकों में नक्सलियों से लडने के लिए भेजा जाता है । दिल्ली में सांसद और राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा के लिए भी इन्हें तैनात किया गया है । कोबरा फोर्सेज द्वारा किया गया सभी मिशन हमेशा गुप्त ही रहता है ।
४ – पैरा कमांडो फोर्स

पैरा कमांडोज भारतीय सेना की सबसे ज्यादा प्रशिक्षित स्पेशल फोर्स मानी जाती है। इनमें सेना के सिर्फ उन्हीं जवानों को स्पेशल फोर्सेज बनने का मौका दिया जाता है जो मानसिक रूप से पूरी तरह से स्वस्थ और बलवान हो । इसके साथ ही बेहद ही समझदार और देश के लिए मर मिटने को भी हो इन । कमांडो की ट्रेनिंग इतनी कड़ी होती है कि ट्रेनिंग के शुरुआत ही शरीर पर ६५ किलो वजन और २० किलोमीटर दौड़ के साथ होती है। इन कमांडोज की जिम्मेदारी के बारे में बात करें तो स्पेशल ओप्रेशन, डायरेक्ट ओप्रेशन ओन, आतंकवादी विरोधी अभियान, दुश्मन को तलाशने जैसे कई सबसे मुश्किल काम इनके सर पर होतें हैं ।
५ – एनएसजी कमांडो फोर्स

एनएसजी जिन्हें ब्लाक किट कमांडोज के नाम से भी जाना जाता है जिसे 1994 में बनाया गया था। इन कमांडोज को हर रोज कड़ा अभ्यास करना पड़ता है । इसलिए कोई भी ब्लाक किट कमांडो अपने काम को करने में बिल्कुल भी नहीं हिचकिचाता। फिर चाहे वह दुश्मन को ढुंढ निकालना हो या फिर देश में घुसे आतंकवादियों को मारना हो । यह फोर्स सर्वत्र सर्वोच्च सुरक्षा के लक्ष्य पर काम करती है, जिन्हें खुद से ज्यादा अपने साथी कमांडो पर विश्वास होता है । 26/11 मुंबई हमले में बिना किसी मुसीबत के सफलता पूर्वक आतंकवादियों से निपटने में इन कमांडोज का बहुत बड़ा हाथ था। ओप्रेशन ब्लू स्टार जैसे बड़े मिशन को भी इन फोर्सेज ने बड़ी समझदारी से संभाला था ।