Featured Hindi India News

बदलने जा रहा है हमारे देश का नाम? लग सकता है ‘इंडिया’ शब्द पर ‘प्रतिबंध’!

भारत या इंडिया? अब क्या होगा हमारे देश का नाम!

बदलने जा रहा है हमारे देश का नाम? लग सकता है ‘इंडिया’ शब्द पर ‘प्रतिबंध’! June 15, 2020Leave a comment

तमिलनाडु मे अभी कुछ समय पहले ही 1080 स्थानो के नाम बदले गए थे । उसके बाद जनता दो दलो मे विभाजित हो गई। एक दल जो कि इस कदम से खुश था और उसके पीछे का उनका तर्क “इंडिया” शब्द को प्रतिबंध करने मे जुट गया। ये तर्क कुछ इस प्रकार सामने आया जब भारतीय मीडिया के एक एंकर ने सरकार के इस कदम से खुशी जाहिर करते हुए कुछ इस तरह से तर्क दिए.

1. ये कहानी सिर्फ तमिलनाडू की नहीं है बल्कि भारत के कई शहरों और इलाकों के नाम भी भारत पर शासन करने वाले विदेशियों ने अपनी अपनी सहूलियत के हिसाब से बदल दिए.
2. यहां तक कि हमारे देश के नाम के साथ भी ऐसा ही हुआ. भारत को इंडिया नाम भी विदेशियों ने ही दिया है. इतिहासकार मानते हैं कि सबसे पहले ग्रीस के लोगों ने भारत को इंडिका (Indika) कहकर बुलाया और बाद में धीरे-धीरे ये नाम इंडिया में बदल गया. आज भी भारत में एक वर्ग ऐसा है जो अपनी पहचान को भारत से नहीं बल्कि इंडिया से जोड़कर देखता है और अंग्रेजों को अपना वैचारिक पूर्वज मानता है. ऐसे ही लोगों की वजह से इंडिया और भारत के बीच की खाई लगातार बड़ी हो रही है.

3. अब इस बात पर भी बहस चल रही है कि क्यों ना भारत के लिए इंडिया शब्द का प्रयोग पूरी तरह बंद कर दिया जाए. भारत के संविधान के पहले आर्टिकल में भी लिखा है – India, That is Bharat, shall be A union of states’. यानी विदेशियों का दिया हुआ नाम आखिरकार भारत के संविधान का भी हिस्सा बन गया. इसी तीसरे व अन्तीम तर्क को सबने सही समझा और भारत शब्द का प्रयोग करने की मांग करने लगे।

तमिलनाडु ने इस दिशा में एक सार्थक पहल की है और इतिहास में हुई गलतियों को सुधारने की दिशा में एक कदम बढ़ाया है. इस प्रयास का मजाक उड़ाने की बजाय इसकी सराहना की जानी चाहिए क्योंकि जो देश अपनी जड़ों को भुला देता है उस देश को दुनिया कभी सम्मान की दृष्टि से नहीं देख पाती.