Featured Hindi India Lifestyle News

‘कोरोना’ के बीच बढ़ रहा और एक ‘खतरा,’ 30 दिनों में लगेंगे 3 सबसे बड़े ‘ग्रहण’!

'कोरोना' के बाद अब 'ग्रहण' लाएगा 'तबाही,' इस तरह बढ़ेगा 'खतरा'!

‘कोरोना’ के बीच बढ़ रहा और एक ‘खतरा,’ 30 दिनों में लगेंगे 3 सबसे बड़े ‘ग्रहण’! June 3, 2020Leave a comment

देश में लॉकडाउन के चलते खगोलविदों के लिए आ गयी हैं बड़ी खुशखबरी। जून से जुलाई तक एक महीने की अवधि के दौरान 3 ग्रहण होने वाले हैं।
पहला चंद्रग्रहण 5 जून को शुरू होगा। इसके बाद 21 जून को सूर्य ग्रहण होगा, जो भारत सहित एशिया और दक्षिण पूर्व यूरोप में लोगों को दिखाई देगा। इसके बाद 5 जुलाई को तीसरा और अंतिम चंद्रग्रहण होगा। यह ग्रहण भारत को छोड़कर अमेरिका, अफ्रीका, दक्षिण पूर्व यूरोप में देखा जाएगा। इस ग्रहण का अध्ययन खगोलविदों और ज्योतिषियों द्वारा किया जा रहा है। अध्ययन से पता चलता है कि यह ग्रहण क्या और कैसे प्रभावित करेगा। जानें कि इस ग्रहण का आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

ग्रहण क्या है?
सूर्य ग्रहण- जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है, तो चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ती है। इस छाया से देखी जाने वाली स्थिति को सूर्य ग्रहण कहा जाता है।
चंद्र ग्रहण – जब पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आती है, तो चंद्रग्रहण तब दिखाई देता है जब पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है।

ज्योतिष के अनुसार, 21 जून को होने वाला सूर्य ग्रहण भारत सहित पूरी दुनिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह ग्रहण मिथुन राशि में होगा। ग्रहण के दौरान, मंगल मीन राशि में है और सूर्य, बुध, चंद्रमा और राहु को देख रहा है, जो कि एक अशुभ संकेत है। शनि, बुध, बृहस्पति और शुक्र जैसे महत्वपूर्ण ग्रह ग्रहण के दौरान परिक्रमा करते रहेंगे। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ग्रहों की इस हरकत से पूरी दुनिया में अराजकता पैदा होने का अनुमान है। दुनिया में बड़े पैमाने पर प्राकृतिक आपदाओं का खतरा है। प्राकृतिक आपदाएं कई तरह से नुकसान पहुंचा सकती हैं। ऐसी भविष्यवाणी की जा रही है।