Featured Hindi Lifestyle

कैसे समझें की सामने वाला व्यक्ति आपसे ‘झूठ’ बोल रहा है या ‘सच,’ जानिए!

सामने वाला व्यक्ति आपसे 'सच' बोल रहा है या 'झूठ,' इस तरह समझें!

कैसे समझें की सामने वाला व्यक्ति आपसे ‘झूठ’ बोल रहा है या ‘सच,’ जानिए! May 30, 2020Leave a comment

आप रोज़ कितने ही लोगों से मिलते हैं , पर इनमें से कुछ लोग बातों ही बातों में आपसे झूठ बोलते हैं लेकिन आप ये समझ नहीं पाते और आप उसकी बातों पर विश्वास कर लेते हैं। कुछ लोगों में ये आदत पाई जाती है कि वो अपनी बातों में आधे से ज्यादा शब्द झूठ बोलते हैं। ऐसा करते करते ये उनकी आदत बन जाती है। व्यक्ति सारे दिन में औसत 10-200 झूठ सूनता है और इनपर विश्वास भी कर लेता है। केवल बड़े झूठ बोलते हैं ये सच नहीं बच्चे भी झूठ बोलने में माहिर होते हैं। एक साल का छोटा बच्चा भी जोर जोर से झूठ मूठ का रोने लगता है जिससे उसे गोदी में उठा लिया जाए। अगर आप किसी नये व्यक्ति से बात करें तो वो 5 मिनट में 3 झूठ तो बोल ही देता है। अतः ऐसे व्यक्ति पर ज्यादा विश्वास नहीं करना चाहिए।

आज हम आपको बताने की कोशिश करेंगे कि सामने वाला व्यक्ति आपसे झूठ बोल रहा है ये आप कैसे पहचाने।
1) तनाव- जब कोई व्यक्ति झूठ बोल रहा होता है तो वो तनाव में आ जाता है। वो हिचकने लगता है। कभी कभी ज्यादा पसीना आने लगता है। तनाव उसके चेहरे पर साफ दिखने लगता है। उसके बोलने का स्वर अचानक बदल जाता है एवं स्वर भी ऊंचा हो जाता है। व्यक्ति या तो जल्दी जल्दी बोलकर बात खत्म कर देता है या फिर धीरे धीरे सोच सोच कर बोलने लगता है।

2) शारीरिक भाव- व्यक्ति का झूठ उसके शारीरिक भाव से पकड़ा जा सकता है। अतः व्यक्ति से बात करते वक्त उसके शारीरिक भाव देखने चाहिए। जैसे अपने हाथों को मसलना, पैर हिलाना, ज्यादा हाथ हिलाकर बातें करना। जो व्यक्ति झूठ बोल रहा होता है वो सामने वाले की आंखों में आंखें मिलाता है लेकिन ये जानने के लिए कि सामने वाला उसके झूठ को पकड़ तो नहीं लेगा लेकिन ज्यादा देर तक आंखें नहीं मिला पाता।

3) विस्तार- व्यक्ति अगर सच बोलें तो सिंपल बात ही कहता है। लेकिन अगर व्यक्ति झूठ बोले तो उसी बात को बढ़ा चढ़ाकर कहेगा जिससे बात सुनने में सच्ची लगें। जैसे कोई व्यक्ति घर से बाजार गया हो तो कहेेगा मैं बाज़ार गया था। लेकिन यही अगर झूठा बोले तो कहेगा मैं तैयार हुआ बैैग लिया पैैेसे लिए तब बस रस्ते से जा रही थी मैं बाज़ार के लिए घर से निकला इत्यादि। व्यक्ति को अगर घुमाकर अगर वही सवाल पूछा जाए तो वह ठीक नहीं बता पाता है। अतः आपको किसी पर शक हो तो उसे घुमा कर एक ही सवाल पूछे। जवाब अगर अलग-अलग हो तो व्यक्ति झूठ बोल रहा है।